सॉफ्टवेयर क्या है ? | What is Software

What is Software – मान लीजिए आपका शरीर एक कंप्यूटर है तो आत्मा एक सॉफ्टवेयर है जो हमें जीवन देती है, सोचने समझने और निर्णय लेने की क्षमता विकसित करती है। इसका मुख्य केंद्र दिमाग होता है। यह हमारे पूरे शरीर को चलाता है। अगर आप अपने दिमाग को निकालकर अलग कर देंगे तो आपका शरीर भी किसी काम का नहीं रहेगा।

What-is-Software

इसी तरह कंप्यूटर भी बिना CPU के नहीं चल सकताऔर CPU बिना Software के। Software Group of program है जो किसी कार्य को पूरा करने के लिए बनाए जाते हैं। कंप्यूटर सिर्फ मशीन भाषा ( machine language) को समझता है।

इसलिए सॉफ्टवेयर की ऐसे Coding की जाती है ताकि कंप्यूटर उसे आसानी से समझ सके। ये कंप्यूटर चलाने वाले यूजर को ऐसा User Friendly Environment देता है जिससे यूजर कंप्यूटर को आसानी से चला सके।

आम भाषा में सॉफ्टवेयर को कंप्यूटर की आत्मा कहा जा सकता है। जैसे आत्मा दिखाई नहीं देती ऐसे ही software भी दिखाई नहीं देता पर होता है। Computer को काम करने के लिए Software की जरूरत होती है।

बिना सॉफ्टवेयर कंप्यूटर बेजान सी चीज़ है। हमारे बहुत सारे काम जो हम कंप्यूटर पर करते है जैसे फाइल बनाना, डॉक्यूमेंट बनाना, इन्टरनेट चलाना, ऑनलाइन शोपिंग, विडियो देखना, गाने सुनना etc. सभी सॉफ्टवेयर की मदद से ही होता है।

What is Software

Types of Software

सॉफ्टवेयर प्रोग्रामो का एक समूह है जो किसी खास काम को करने के लिए बनाये जाते है। प्रोग्राम कुछ नहीं बस निर्देशों का समूह है जो एसी Language में होते है जिसे कंप्यूटर समझ सके। जैसे C, C++, C#, JAVA, .NET etc. आमतौर पर सॉफ्टवेयर 2 तरह के होते है-

  1. System Software
  2. Application Software

 1. System सॉफ्टवेयर

सॉफ्टवेयर जो कंप्यूटर में यूजर को ऐसा Environment दे, जिससे यूजर को कंप्यूटर चलाने में आसानी हो। ऐसे सॉफ्टवेयर ‘s को System Software कहा जाता है । यह कंप्यूटर के Hardware और Application Software को मेनेज करता है और उनसे काम करवाता है। System सॉफ्टवेयर कई प्रोग्रामो और सॉफ्टवेयर का समूह है।

ये सॉफ्टवेर computer में एसा प्लेटफार्म तैयार करते हैं जिससे दूसरे एप्लीकेशन Software को चलने में मदद मिल सके। ये यूजर को फ्रेंडली एनवायरमेंट देते हैं जिससे यूजर सिस्टम को आसानी से चला सके।


यह सॉफ्टवेयर वह प्रोग्राम है जिन्हें कंप्यूटर खुद manage करता है। ये सिस्टम में इंस्टॉल होते हैं और हार्डवेयर को यूज करके उसे manage करते हैं। System सॉफ्टवेयर को Operating System भी कहा जाता है।

System Software का काम कंप्यूटर में फाइल मैनेज करना, मेमोरी मैसेज करना, हार्डवेयर को मैसेज करना और दुसरे रिसोर्सेस प्रोवाइड करवाना है। बिना System Software के कंप्यूटर में कोई भी काम नहीं हो सकता।

Examples of System सॉफ्टवेयर :-

  1. Microsoft Windows
  2. Linux
  3. Unix
  4. Mac OSX
  5. DOS
  6. BIOS Software

2. Application Software

इनमे वे सॉफ्टवेयर जो यूजर की प्रॉब्लम को हल करने के लिए बनाये जाते है। एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर End User होते है। यह सीधा यूजर को interface देते है। इन्हें जरूरत पढने पर कंप्यूटर पर Install और Remove किया जा सकता है।

यह सॉफ्टवेयर System सॉफ्टवेयर की मदद से कंप्यूटर पर run होते हैं। इन्हें किसी एक तरह के task को पूरा करने के लिए बनाया जाता है। ध्यान रहे Computer बिना application Software के आसानी से चल सकता है पर बिना System Software कि नहीं।

फिर भी application सॉफ्टवेयर important होते हैं। इन्हें Productivity programs और end user प्रोग्राम भी कहते हैं। यह यूजर को उसका task पूरा करने में मदद करते हैं।

Examples of Application सॉफ्टवेयर  :-

  1. Opera (Web Browser)
  2. Microsoft Word (Word Processing)
  3. Microsoft Excel (Spreadsheet )
  4. MySQL (Database )
  5. Microsoft PowerPoint (Presentation सॉफ्टवेयर )
  6. iTunes (Music / Sound सॉफ्टवेयर )
  7. VLC Media Player (Audio / Video  )
  8.  World of Warcraft (Game )
  9. Adobe Photoshop (Graphics सॉफ्टवेयर )

What is Open Source Software

ओपन-सोर्स सॉफ्टवेयर  एक प्रकार का कंप्यूटर सॉफ़्टवेयर है जिसका Source कोड लाइसेंस के तहत जारी किया जाता है जिसमें कॉपीराइट धारक उपयोगकर्ताओं को किसी भी उद्देश्य के लिए सॉफ़्टवेयर का अध्ययन, परिवर्तन और वितरण करने का अधिकार प्रदान करता है।

इन सॉफ्टवेयर को आप modification कर use कर सकते है यह बिलकुल फ्री में उपलब्ध होते है।

Example of Open Source Software –

  1. Mozilla Firefox
  2. LibreOffice
  3. VLC Media Player
  4. Linux
  5. Blender
  6. Python
  7. PHP

Conclusion

सॉफ्टवेयर प्रोग्राम का समूह है जो की स्पेशल पर्पस के लिए किसी खास programming भाषा में code कर बनाये जाते हैं। जिसमें सिस्टम सॉफ्टवेयर ऑपरेटिंग सिस्टम है और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर end user सॉफ्टवेयर होते हैं।

Default image
Viren Raikwal
एक अच्छे ब्लॉग के लिए कंटेंट होना जरुरी है, पिछले 5 साल से मेरी सारी कोशिश इसी पर रहती है की सूचना के इस सागर से आपके लिए मूल्यवान काम की बाते ला सकू। धन्यवाद

21 Comments

  1. please apka question detail me de.

  2. Kya mobile phone ek medani chetr hai

  3. sir hum software ke bare me koi model kaise bana sakte hai aur kis chij me bana sakte hai

  4. सबसे पहले आपको उस प्रॉब्लम को ढूढना चाहिए जिससे सभी परेशान हो उसी सब्जेक्ट पर अपना सॉफ्टवेर बनाये बनाने से पहले नोटपैड पर उसके functions का map तैयार करे

  5. Sir s/w create karne ke liye sabse important language koun sa ho .
    Jisme jyada focuse karna importent hoga

  6. sir m software bana na chata hun lekin m usko kese teyar krun smjh nhi aa raha h plzz hlp

  7. sir aapne software ke bare me bahut hi acchi jankari di hai. Thank u so much…………….

  8. Aape blog ka design kaphi achha hai. Aur aapne kaphi achha post likha hai. Aise hi likhte rahiye.

  9. bahut acchi jaankari ha ham aapk thanks bolte ha g

  10. May class 11th kaa student huo . May village may study kaar Raha hou . May software banana cahta hou . Can you me help. May future may kuch karna cahta hou . May study Mai Jada intrast naa rakh kar technology may intrast rakhta hou . please can you help me. Thanks sir

    • आप अभी 11th में हो इसीलिए में यह सलाह देना चाहुगा की आप पहले 12th पूरी कर ले. इसके बाद computer टेक्नोलॉजी लाइन में आने के लिए आप BCA को चुन सकते है इससे आप बेसिक को आसानी से सिख सकते है 12th के बाद एंड्राइड को सिख सकते है इसमें भी बहुत अच्छा scope है.

  11. Software method karna kaa leya kya karna hoga

  12. Sir aapna software kaa bara mai bahut achi jankari di hai thanks .but aap Mari problem Koo samach kar uska haal bataiya .

  13. Thanks sir
    For good information

  14. Software ke bare me bhut hi informative information share ki hai apne. isse koy bhi asani se software ke bare bare knowledge le sakte hai.

  15. nice post very useful information

  16. nice post likhi h aapne, thank you sir!

  17. Bro article mast tha thanks

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: